नई दिल्ली
पेट्रोल, डीजल और एलपीजी की ‘‘आसमान छूती कीमतों’’ को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सवाल किया कि ‘अच्छे दिन’ का वादा करने वाली सरकार इस पर खामोश क्यों है। राहुल ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के कुछ नेताओं के पुराने बयानों से जुड़ा एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, ‘‘भाजपा सरकार ने वर्ष 2014 से पेट्रोल/एलपीजी/डीजल पर कर के जरिए 10 लाख करोड़ रुपए का संग्रह किया। इसके बावजूद हमारे नागरिकों को कोई राहत नहीं दी गई। यह वीडियो प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में ईंधन की कीमतों की सच्चाई दिखाता है।’’
  
उन्होंने कहा कि वह आज इसी मुद्दे पर कर्नाटक के कोलर में विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से पोस्ट वीडियो में प्रधानमंत्री बनने से पहले मोदी के उस कथित बयान को दिखाया गया जिसमें उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें बढऩे की आलोचना की थी। इस वीडियो में भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी और सुषमा स्वराज के भी पुराने बयानों का उल्लेख है। वीडियो में सवाल किया गया है कि ‘अच्छे दिन’ का वादा करने वाली सरकार पेट्रोल-डीजल की ‘आसमान छूती कीमतों’ पर चुप क्यों है? 

Source : Agency