भोपाल 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार ने बीते एक वर्ष में लगभग तीस हजार करोड़ रुपये अलग अलग योजनाओं में किसानों के खातों में पहुँचाए हैं। सामाजिक सुरक्षा का चक्र हर गरीब के साथ जोड़ने की मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना की शुरुआत 13 जून से की जा रही है। सरकार लाड़ली लक्ष्मी योजना को कानून बनाएगी इसके लिये आगामी विधानसभा सत्र में विधेयक लाया जायेगा। प्रदेश में 23 जून से 6 जुलाई तक विकास पर्व मनाया जायेगा। जिसका शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 23 जून को करेंगे। 


मुख्यमंत्री चौहान 'दिल से' कार्यक्रम के तहत सोमवार को विद्यार्थियों, मजदूरों और किसानों से सीधा संवाद कर रहे थे। उन्होंदने कहा कि करीब 22 हजार प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को लैपटॉप की राशि दी गई है। कक्षा 12वीं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले सभी विद्यार्थियों को लैपटॉप दिया जायेगा। इससे करीब 40 हजार विद्यार्थियों को और लाभ मिलेगा। 12वीं में 70 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने वाले विद्यार्थियों की काउंसलिंग की गई है। दूसरे चरण में 70 प्रतिशत से कम अंक लाने वाले विद्यार्थियों की काउंसलिंग की जायेगी। तीसरे चरण में जो विद्यार्थी उत्तीर्ण नहीं हुये हैं उनकी काउंसलिंग होगी। मध्यप्रदेश का कोई भी बच्चा धन के अभाव में शिक्षा से वंचित नहीं होगा। 


मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना 13 जून से 
मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना के जरिए शोषित, वंचित और पीड़ित वर्ग को न्याय देने का काम किया जा रहा है। इसमें गरीबों को आवास का पट्टा, बच्चों की पढ़ाई, चिकित्सा सहायता, प्रसूति सहायता, मृत्यु होने पर सहायता और कौशल विकास के लिये मदद दी जायेगी। 


बिजली बिलों के लिए विशेष कैम्प
जुलाई और अगस्त माह में ग्रामों के समूहों में विशेष कैम्प लगाये जायेंगे, जिनमें मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना में पंजीकृत श्रमिकों के बिल जमाकर उन्हें शून्य बिल का प्रमाण पत्र देंगे। बिजली बिलों का पिछला बकाया राज्य सरकार भरेगी। इसके बाद उन्हें फ्लैट रेट पर दो सौ रुपये प्रति माह का बिल दिया जायेगा। 


प्रदेश में 15 जुलाई से 15 अगस्त तक व्यापक वृक्षारोपण अभियान चलाया जायेगा। नर्मदा सेवा मिशन के तहत नदी संरक्षण का काम किया गया है। 

Source : Agency