फेसबुक डाटा लीक का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। फेसबुक ने एक बार फिर स्वीकार किया है कि उसने हुवावे, ओप्पो और अलीबाबा समेत 52 टेक्नोलॉजी कंपनियों के साथ डाटा साझा करने के लिए साझेदारी की थी। इसका खुलासा फेसबुक द्वारा अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की ऊर्जा और वाणिज्य समिति के सवालों के ताजा जवाब किया गया है।

समिति द्वारा उठाए गए सवाले के जवाब फेसबुक ने 747 पेजों में दिए है। जवाब में फेसबुक ने कहा है कि इनमें से 38 कंपनियों के साथ साझेदारी खत्म हो गई है और 7 कंपनियों के साथ जुलाई के अंत तक खत्म हो जाएगी। वहीं फेसबुक ने कहा है कि एप्पल, अमेजॉन और टोबी के साथ यह साझेदारी जारी रहेगी। फेसबुक को अन्य 61 कंपनियों के साथ डाटा शेयरिंग की साझेदारी को खत्म करने के लिए 6 महीने का वक्त दिया गया है।

बता दें कि इससे पहले न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेसबुक 4 चाइनीज मोबाइल निर्माता कंपनियों के साथ यूजर्स का डाटा शेयर करती है और फेसबुक ने इस रिपोर्ट को स्वीकार भी किया था। फेसबुक जिन कंपनियों को अपने यूजर्स का डाटा शेयर करता है उनमें दुनिया की तीसरी बड़ी मोबाइल निर्माता कंपनी Huawei का भी नाम है। बता दें कि हुवावे पर अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने भी डाटा बेचने को आरोप लगाया था और लोगों को कंपनी के स्मार्टफोन इस्तेमाल ना करने की सलाह दी थी।

उस समय भी फेसबुक ने अपने एक बयान में कहा है कि उसने हुवावे, लेनोवो ग्रुप, ओप्पो और TCL कॉर्प समेत दुनियाभर की 60 कंपनियों के साथ डाटा शेयर किया है। बता दें कि रविवार को न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के सामने आने के बाद से तहलका मचा हुआ है। रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेसबुक ने दुनियाभर की 60 कंपनियों के साथ पैसे लेकर यूजर्स का डाटा शेयर किया है।

Source : Agency