चंडीगढ
भारतीय महिला क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर की फर्जी डिग्री मामले में मुश्किलें बढ़ सकती हैं. वह पंजाब पुलिस में डीएसपी पद से हटाई भी जा सकती हैं. 29 साल की हरमनप्रीत ने इसी साल मार्च में डीएसपी पद संभाला था. सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार फर्जी डिग्री विवाद में फंसी भारतीय टी-20 टीम की कप्तान को डीएसपी पद से हटाने की तैयारी कर रही है. हालांकि इस तरह के मामलों में पंजाब सरकार कानूनी कार्रवाई भी करती है, लेकिन हरमनप्रीत केस में ऐसा नहीं किया जाएगा.

सूत्रों की मानें, तो हरमनप्रीत कौर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को दी गई सफाई में कहा है कि उन्होंने यह डिग्री अपने कोच के माध्यम से ली है. उन्हें इस डिग्री के फर्जी होने के बारे में जानकारी नहीं थी. पंजाब पुलिस में डीएसपी पद खोने के बाद हरमनप्रीत को पंजाब पुलिस में उनके क्वालिफिकेशन के आधार पर कॉन्स्टेबल का पद दिया जा सकता है. पंजाब पुलिस में ज्वाइनिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने हरमनप्रीत कौर की वर्दी पर सितारे लगाए थे. महिला वर्ल्ड कप 2017 में शानदार प्रदर्शन के बाद पिछले साल जुलाई में हरमनप्रीत को डीएसपी पद की पेशकश की गई थी. हरमनप्रीत पहले भारतीय रेल में काम करती थीं, लेकिन उनके पंजाब पुलिस में काम करने का अनुरोध करने के बाद उन्हें इस साल की शुरुआत में सेवाओं से मुक्त कर दिया गया.
 

Source : agency