हमीरपुर
भले ही हिंदुस्तान विकसित देश के रूप में उभर कर सामने आ रहा है, बावजूद इसके आज भी अंधविश्वास पर लाेगाें द्वारा आंखें मूंदकर विश्वास किया जाता है। एेसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के जिले हमीरपुर से सामने आया है। जहां एक बाबा ने परमात्मा से मिलने की चाह में जिंदा समाधि लेने की कोशिश की। 

मामला हमीरपुर जिले के जरिया थाना क्षेत्र के गोहांड ब्लाक स्थित कैलाश नगर का है। जहां पर झारी नामक एक धार्मिक स्थान है। यहीं पर 80 साल के फक्कड़ बाबा उर्फ ठाकुरदास पिछले 35 सालों से घर से अलग रह रहे हैं। एक दिन अचानक ही फक्कड़ बाबा को परमात्मा से मिलने की इच्छा हुई। फिर क्या था भक्तों ने बुधवार सुबह से ही बाबा के लिए कब्र खोदनी शुरू कर दी, लेकिन इसकी सूचना पुलिस को मिल गई।

बाबा के जिंदा समाधि लेने की खबर मिलते ही मौके पर कई थानों की फोर्स पहुंच गई। पुलिस ने बाबा को सम्मान के साथ भक्तों के बीच से निकालकर थाने पहुंचे। जहां उन्हें समझा बुझाकर उनकी समाधि लेने की जिद को शांत करवाया गया। फिलहाल बाबा को इलाज के लिए सीएचसी सरीला में भर्ती कराया गया है। 

सीओ सुरेश कुमार रवि का कहना है कि साधु ठाकुरदास ने शरीर त्यागने का प्रयास किया था। इनके भक्तजन भी वहीं मौजूद थे। हमने मौके पर जाकर बताया कि यह वैधानिक काम नहीं है। बाबा को हम थाने पर ले आए थे। हमने सारे लोगों के सामने कहा कि इनको आगे से एेसे किसी काम के लिए प्रोत्साहित ना किया जाए। 

Source : Agency