मुंबई
दिल्ली उच्च न्यायालय ने आज कहा कि नेटफ्लिक्स की सीरीज ‘सेक्रेड गेम्स’ से कुछ सीन्स को हटाने की मांग वाली याचिका पर वह 16 जुलाई को सुनवाई करेगी। याचिका में दावा किया गया है कि इस वेब सीरीज की कुछ विषयवस्तु पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का अपमान करती है।  

न्यायमूॢत संजीव खन्ना और न्यायमूॢत चंद्रशेखर की पीठ के समक्ष मामला आने पर उसने कहा कि वह याचिका और सीडी पर गौर करेगी और इसे सोमवार के लिए सूचीबद्ध कर दिया गया। याचिका में आरोप लगाया गया है कि ‘सेक्रेड गेम्स’ के कुछ सींन्स और संवाद से कांग्रेस के दिवंगत नेता का अपमान हुआ है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूॢत सी हरि शंकर की पीठ के समक्ष कल मामला आने पर उसने कहा कि यह दूसरी पीठ के समक्ष सूचीबद्ध होगा।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश ने बिना कोई कारण बताते हुए इसपर सुनवाई करने से इंकार कर दिया। वकील शशांक गर्ग के जरिए दाखिल याचिका में याचिकाकर्ता वकील निखिल भल्ला ने दलील दी है की सैफ अली खान और नवाजुद्दीन सिद्दिकी अभिनीत शो में बोफोर्स मुद्दा, शाहबानो मामला, बाबरी मस्जिद मामला और सांप्रदायिक दंगे जैसे देश के विभिन्न घटनाक्रमों को गलत तरीके से दिखाया गया है। याचिका में नेटफ्लिक्स इंटरटेनमेंट , शो के निर्माता फैंटम फिल्मस प्रोडक्शन लिमिटेड और केंद्र को पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार के खिलाफ प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तरीके से दिखाए गए कथित अशोभनीय सींन्स और अपमानजनक टिप्पणी को हटाने का निर्देश देने की मांग की गई है।

Source : Agency