आजकल सोशल मीडिया की एक तरह से सभी को लत गई है। सोशल मीडिया की इतनी ज्यादा आदत हो गई है कि जो भी हमें वहां दिखता है हम उसी को सच मानते हैं और जैसा सोशल मीडिया हमें निर्देश देता है हम उसी के अनुसार चलने लगते हैं। लेकिन जैसे-जैसे इनके यूजर्स बढ़ रहे है खतरा भी बढता जा रहा है। आजकल ऑनलाइन स्टॉकिंग के कई लोग शिकार होते है क्योंकि इसके बारे में लोगों को पता नहीं होता। तो सबसे पहले तो आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर किसी को बिना बताए उसके बारे में जानकारी ट्रेस करना ही ऑनलाइन स्टॉकिंग कहलाता है। यह कई तरह से होता है।

आपने देखा होगा कि आजकल लोग किसी पार्टी या फिर बिजनेस प्रमोशन या फिर अन्य कई तरह के इंटरेस्टिंग लिंक वॉट्सएप पर भेजते हैं। जैसे कि जानें अपने नाम से आपका भविष्य, कौन होगा आपका लाइफ पार्टनर, आप कितने साल जियेंगे या फिर आप वोट करें। इस तरह के ढ़ेरों लिंक वॉट्सएप पर शेयर किए जाते हैं। कई बार वॉट्सएप पर कोई फनी फोटो या फिर लिंक के जरिए आपको प्रेरित किया जाता है कि उस मैसेज को ऑपन करें।

मैसेज के साथ ही एक ऐसा लिंक भी दिया जाता है एकदम गूगल के लिंग के जैसा ही दिखता है। ऐसे में आप जैसे ही उस लिंक या फोटो पर क्लिक करते हैं तो आपका IP अड्रेस उस स्टॉकर के पास पहुंच जाता है जो आपके बारे में जानने की कोशिश कर रहा है। स्टॉक करने वाला शख्स मल्टीमीडिया फाइल का एक माकड लिंक बनाता है। इसके बाद स्टॉकर  IP ट्रैकर की मदद से आपकी वास्तविक लोकेशन जान जाता है। फिर आपको ब्लैकमेल करने की कोशिश करते हैं। इसके अलावा आपको अन्य तरीके से भी नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर सकता है।

Source : Agency