रायपुर
 सार्वजनिक क्षेत्र के देश के सबसे बड़े भिलाई इस्पात संयंत्र में वर्षों से ठेगा प्रणाली पर काम कर रहे श्रमिकों का नियमितिकरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अपने दिल्ली के तीन दिवसीय प्रवास के दौरान केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह से खास मुलाकात की और इस बारे में चर्चा की।

श्रमिकों के नियमितिकरण को लेकर चर्चा में औपचारिक सहमति बन गई है और केंद्रीय मंत्री ने इस दिशा में जल्द आदेश जारी करने का आश्वासन दिया है। दिल्ली में हुई इस मुलाकात के दौरान प्रदेश के मंत्री प्रेमप्रकाश पांडे भी मौजूद थे।

दूसरी पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत वर्ष 1959 में स्थापित इस इस्पात संयंत्र में साल 1979 से ठेका प्रणाली लागू है। जबकि देश के अन्य सार्वजनिक क्षेत्र के इस्पात संयंत्रों दुर्गापुर, राउरकेला और बोकारो में पहले ही ठेका श्रमिकों का नियमितिकरण किया जा चुका है। हाल ही में भिलाई इस्पात संयंत्र की उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के लिए एक्सपॉन्सन प्राजेक्ट पूरा किया गया है।

Source : Agency