दुर्ग
स्टील अथॉरिटी आॅफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) का छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में स्थित भिलाई स्टील प्लांट (BSP) यूनिट में हादसा मामले में बुधवार को बड़ी कार्रवाई की गई है. भिलाई स्टील प्लांट के सीईओ एम रवि को सीईओ पद से हटा दिया गया है. नए सीईओ के नाम की घोषणा देर शाम तक की जा सकती है. केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने भिलाई में इसकी जानकारी दी. चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने बताया कि मृतकों के परिजनों को 30-30 लाख रुपये, गंभीर घायलों को 15-15 व समान्य घायलों को 2-2 लाख रुपये मुआवजा राशि दी जाएगी.

छत्तीसगढ़ में आचार संहिता लगने के कारण हादसे में प्रभावितों को मुआवजे की राशि देने के लिए निर्वाचन आयोग से विशेष अनुमति ली गई है.  ये राशि सेल के नियमों के अलग दी जाएगी. यानि की सेल के प्रावधान के तहत मिलने वाली राशि अलग से दी जाएगी. मुआवजे की राशि प्रभावित के परिजनों को जल्द मिल सके, इसके लिए एक अधिकारी की नियुक्ति भी की गई है.

भिलाई स्टील प्लांट के जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक मृतकों के परिवार के एक-एक सदस्यों को भिलाई स्टील प्लांट में नौकरी देने की घोषणा भी की गई. साथ ही हादसे में गंभीर रूप से घायल ऐसे कर्मी, जो कार्य योग्य नहीं हैं, उनके परिवार के एक-एक सदस्यों को भी नौकरी देने की भी योजना है.

भिलाई पहुंचे केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने बताया कि हादसा मामले में भिलाई स्टील प्लांट के एनर्जी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के डीजीएम नवीन कुमार व शेफ्टी डिपार्टमेंट के जीएम टी पंड्या राजा को बर्खास्त कर दिया गया है. मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने भिलाई में कहा कि मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. सेल की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद और भी कार्रवाइयां की जाएंगी.

केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह के साथ ही केन्द्रीय राज्य इस्पात मंत्री विष्णुदेव साय और छत्तीसगढ़ के सीएम डॉ. रमन सिंह बुधवार को भिलाई पहुंचे. इनके साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे. यहां घायलों से ​मुलाकात के बाद सेल व भिलाई स्टील प्लांट के उच्च अधिकारियों से इन्होंने चर्चा भी की.

Source : Agency