तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर और गणेश आचार्य के खिलाफ यौन शोषण मामले में एफआईआर दर्ज करवा दी है। 10 साल बाद अपने साथ हुई घटना के बारे में मजबूती से सामने आने के बाद एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की कई अन्य महिलाएं भी #MeToo के तहत अपनी-अपनी यौन शोषण की कहानियां समाज के सामने ला रही हैं। इस मूवमेंट को लेकर तनुश्री का कहना है कि हमें यह समझना होगा कि #MeToo सिर्फ महिलाओं ही नहीं बल्कि इस स्थिति से गुजरने वाले पुरुषों और बच्चों के लिए भी है।

लड़ाई कठिन होगी
नाना पाटेकर जैसे दिग्गज सितारे के खिलाफ अपनी लड़ाई को लेकर तनुश्री ने कहा कि यह सब आसान नहीं होने वाला है। 'जब मेरे साथ वह घटना हो रही थी उस समय सेट पर करीब 200 लोग मौजूद थे। लेकिन न तो उस वक्त और ना ही जब मेरी कार पर हमला हुआ उस समय कोई मेरी मदद को आगे आया। अगर उन्होंने मेरा तब सपॉर्ट नहीं किया तो वह इतने सालों बाद भला मेरी मदद क्यों करेंगे?'

उन्होंने आगे कहा 'कोर्ट में भी लड़ाई मेरे और कई लोगों के बीच होगी, जिसके बाद वह डराने और नाम खराब करना शुरू कर देंगे। कुछ लोग हैं जो मेरे सपॉर्ट में आए हैं, लेकिन उन्हें मिलाकर भी हमारी संख्या मेरे खिलाफ खड़े हुए लोगों के मुकाबले काफी कम है। इस तरह न्याय नहीं मिल सकेगा। हमें यह याद रखना जरूरी है कि आज जिसने छेड़छाड़ की है वह आगे यौन शोषण कर सकता है और यौन शोषण करने वाला आगे चलकर रेपिस्ट बन सकता है। जब कार्रवाई नहीं होती तो ऐसे लोगों की हिम्मत बढ़ती जाती है।'

'यह सिर्फ एक मामले में न्याय पाने का मुद्दा नहीं बल्कि सोसायटी में फैले इस तरह के कल्चर को रोकने का है। अगर किसी को इस चीज का डर रहेगा कि उन्हें उनके कदम के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, इससे वह अपने प्रॉजेक्ट और काम खो सकते हैं तो वह जिंदगी में कभी भी किसी महिला के साथ गलत हरकत करने के बारे में सोचेंगे भी नहीं। दूसरे भी इसे देखेंगे और इससे सीखेंगे।'

यह है पूरा मामला
बता दें कि तनुश्री दत्ता ने आरोप लगाया है कि साल 2008 में आई फिल्म 'हॉर्न ओके प्लीज' के लिए उन्हें एक आइटम नंबर शूट करना था। शूटिंग के दिन नाना पाटेकर भी सेट पर मौजूद थे। तनुश्री का आरोप है कि शूट के बीच में नाना उनके नजदीक आए और उन्होंने उन्हें गलत तरीके से छूने लगे, जिसका विरोध करने पर नाना ने उनसे बदतमीजी भी की।

अपने आरोपों में उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने सॉन्ग के लिए नाना के साथ इंटीमेट सीन शूट करने से मना कर दिया था, जिससे नाना पाटेकर का ईगो हर्ट हो गया। इसके बाद तनुश्री को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कथित तौर पर उनकी गाड़ी पर भी हमला किया गया था।

ऐक्ट्रेस ने इस मामले की शिकायत सिने ऐंड टीवी आर्टिस्ट असोसिएशन से भी की थी लेकिन उन्होंने भी कोई कार्रवाई नहीं की। बता दें कि, फिल्म के जिस गाने पर विवाद हुआ था उसे गणेश आचार्य ही कॉरियॉग्राफ कर रहे थे।

विवाद सामने आने के बाद उन्होंने नाना का सपॉर्ट किया था, इस पर तनुश्री ने उन्हें झूठा और दो चेहरे वाला व्यक्ति कहा था। उन्होंने कहा था कि गणेश आचार्य कभी भी सेट पर जो हुआ उसे स्वीकार नहीं करेंगे।

Source : Agency