हिंदू धर्मशाास्त्रों में बहुत सारे ऐसे नियम बताए गए हैं, जिनका रोजमर्रा के जीवन में बहुत महत्व है। रात के लिए हमारे शास्त्रों में कुछ नियम निर्धारित किए गए हैं जिनका पालन स्त्री हो या पुरुष सभी को करना चाहिए। इन नियमों का

हिंदू धर्मशाास्त्रों में बहुत सारे ऐसे नियम बताए गए हैं, जिनका रोजमर्रा के जीवन में बहुत महत्व है। रात के लिए हमारे शास्त्रों में कुछ नियम निर्धारित किए गए हैं जिनका पालन स्त्री हो या पुरुष सभी को करना चाहिए। इन नियमों का पालन न करने वालों के घर में आर्थिक एवं मानसिक परेशानी बनी रहती है।

रात को बाहर कपड़े सुखाने से कपड़ों पर मृत ‘ची’ का प्रभाव पड़ता है जो ठीक नहीं है। धूप में कपड़े सुखाने से कपड़ों पर यांग ऊर्जा का प्रभाव पड़ता है जो शरीर और सौभाग्य के लिए अच्छा होता है।

रात को सोते समय सिर या पैर दरवाजे की ओर न करें। दरवाजे की ओर पैर या सिर करके सोना ‘चिन’ स्थिति में है जो मृत्यु की सूचक मानी जाती हैं इसलिए इस स्थिति से बचें।

हिंदू पंचाग के अनुसार विशेष तिथियों को संभोग न करें। अश्लील सहित्य पढ़ना अथवा फिल्में देखने से नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ता है।

रात को जल्दी सोना चाहिए और सवेरे जल्दी उठना चाहिए। सुबह देर तक सोने से शरीर में रोग और शोक अपना बसेरा बना लेते हैं। जहां रोग और शोक होगा वहां लक्ष्मी का बसेरा नहीं हो सकता।

रात को कमरे में अंधेरा करके न सोएं, हल्की रोशनी अवश्य रखें। इससे सकारात्मकता बनी रहती है।

रात को जिस बिस्तर पर आप सोते हैं, उस पर नई बैडशीट बिछा कर सोएं। सारे दिन की बिछी बैडशीट पर न सोएं क्योंकि उस पर नकारात्मक ऊर्जा अपना वास बना लेती है और दिन भर की धूल और मिट्टी से नींद में भी विध्न पड़ता है।

Source : Agency